+91-11-41631787
Todays Thought
"यदि आप गुस्से के एक क्षण में धैर्य रखते हैं, तो आप दु:ख के सौ दिन से बच जाएंगे"
Welcome to audioHindi.com

हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है, हमारे प्राणों की भाषा है, हमारे दिल की पुकार है। उसे अपनाना हमारा धर्म है। इसे अपनाने से हमारी खुद की गरिमा बढ़ेगी। AUDIOHINDI.COM में लेखक अश्विनी कपूर द्वारा लिखी गई कई उत्कृष्ट रचनाएं हैं। साथ ही उनके ऑडियो वर्जन भी उपलब्ध है। इस वेबसाइट का यही उद्देश्य है कि हिन्दी को सहेजे, संवारे और प्रसारित करें। 

All books gallery
कविता में गीता -
Ashwani Kapoor

मुनिवर व्यास ने अठारह पुराण नौ व्याकरण और चार वेंदों का मन्थन करके रचना की महाभारत की | फिर महाभारत रुपी समुद्र-का मंथन करने से प्रकट हुई गीता | और गीता का मन्थन करके भगवान श्री कृष्ण ने उसके अर्थ का सार अर्जुन के मन में डाल दिया | इस अर्जुन का मन मेरा भी है, तुम्हारा भी है-और इस सृष्टि में सभी का हो सकता है यदि हम इसके भाव को अपने जीवन में धारण कर सकें।



Today's CHAPTER1