+91-11-41631787
राम राज्य
Select any Chapter from
     
प्रिया
ISBN: 81-7220-092-7

प्रिया

 

प्रिया

 

किसी के मनोभावों का बिम्ब

किसी की आँखों का उल्लास

किसी के हृदय का कण – कण

अथाह उमंगो का दर्पण।

 

मुख मूक मगर

अंधरों पर मुस्कान लिए

चेहरे पर उल्लास की आभा

आँखों में एक प्रति लिए।

 

किसी के नेह का नाता जोड़े

किसी से चिन्तन का है साथ

किसी की आँखों की है ज्योति

किसी की जीवन की प्रभात।


प्रतिपल नवीनता के दर्शन

नित नई उमंगों से मिलन,

प्रिया। तुम मेरा जीवन

जीवन की उत्कष्ट उमंग।